Saturday, April 17, 2010

मैं वक़्त के प्यालों की ख्वाहिश नहीं,
जिंदगी मुझसे है मैं जिंदगी से नहीं,
यूँ बार-बार मुझ पर शब्दों की आज़माइश न कर,
मैं वक़्त का दरिया हूँ, मुझसे उम्मीदों की गुंजाइश न कर